What We Call Pear In Hindi?

There are a few different names for pears, the most common of which are the Common Pear, European Pear, and Bhutan Pear.Kishtabahira is the name given to it in Kashmiri, whilst Nashpati is the name given to it in Hindi and Urdu.The pear, which is a member of the Rosaceae (Rose) family, is known scientifically as Pyrus Pyrifolia (in Asia) and Pyrus communis (in Europe).Both of these names are from the Latin word for rose.

The pear is also referred to as the European Pear, the Bhutan Pear, and the Common Pear. In Kashmiri, it is referred to as Kishtabahira, whereas in Hindi it is referred to as Nashpati. Pyrus Pyrifolia (Asian) and Pyrus communis (European) are the botanical names for pear, which is a member of the Rosaceae (Rose) family.

फ्रूट पीयर को हिंदी में क्या कहते हैं?

अर्थ और पर्यायवाची नाशपाती: नाशपाती (फ़ा.)

पीयर्स मींस क्या होता है?

If you have a question, please contact us at [email protected]. As a result of this, if you have any questions, please don’t hesitate to contact me at [email protected]. यह मूल रूप से उत्तरी अफ्रीका, पश्चिमी यूरोप का निवासी था और पूर्वी जंबुद्वीप तक इसका विस्तार हुआ करता था।

नाशपाती खाने के क्या क्या फायदे हैं?

  1. If you have a question, please contact us at [email protected] (Nashpati Khane Ke Fayde) हड्डियों के लिएः नाशपाती को हड्डियों के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है.
  2. एनीमिया के लिएः नाशपाती को आयरन का अच्छा सोर्स माना जाता है.
  3. एनर्जी के लिएः शरीर में एनर्जी की कमी करते हैं महसूस तो आप नाशपाती का सेवन करें.
  4. मोटापा के लिएः
  5. पाचन के लिएः
  6. डायबिटीज के लिएः
You might be interested:  How To Get Discounts On Apple Products?

नाशपाती भारत कहाँ से आया?

यह मूल रूप से उत्तरी अफ्रीका, पश्चिमी यूरोप का निवासी था और पूर्वी जंबुद्वीप तक इसका विस्तार हुआ करता था। In the years 10–17 (33–56), a number of factors contributed to the development of the human brain, including the presence of certain genes.

नाशपाती कब खाना चाहिए?

1 नाशपाती खाने का सबसे अच्छा फायदा य है कि इसे रोजाना अपननी डाइट में शामिल करके आप अपने शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बहुत आसानी से बढ़ा सकते हैं और प्रतिरक्षी तंत्र को मजबूत कर सकते हैं। 2 दूसरा फायदा यह है कि पाचन क्रिया को बेहतर बनाने के लिए यह बेहतरीन है।

नाशपाती खाने से क्या नुकसान होता है?

आमतौर पर नाशपाती में पेक्टिन जैसे डाइट फाइब पाए जाते हैं जो कब्ज और अन्य पाचन समस्याओं जैसे चिड़चिड़ा, अपच, गैस, सूजन और पेट फूलना आदि से राहत देते हैं। लेकिन अगर इसका सेवन अधिक मात्रा में किया तो इसमें मौजूद फाइबर के कारण ऐंठन, दस्त, कब्ज, आंतों की गैस, आंतों की रुकावट आदि जैसी समस्याएं हो सकती है।

नाशपाती में कौन कौन से विटामिन होते हैं?

नाशपाती में एंटी ऑक्सीडेंट और विटामिन सी की अच्छी मात्रा पाई जाती है, जिसकी वजह से रोग प्रतिरक्षा प्रणाली बेहतर बनती है और शरीर को विभिन्न रोगों से लड़ने की ताकत मिलती है. 5. अगर आपको हड्ड‍ियों से जुड़ी कोई समस्या है तो नाशपाती का सेवन आपके लिए फायदेमंद रहेगा.

नाशपाती कैसे खाना चाहिए?

एनर्जी बढ़ाने में मददगार नाशपाती फल सही तरीके से काम करने के लिए शरीर को ऊर्जा की जरूरत होती है। एनर्जी के लिए नाशपाती अच्छा फल है। इसमें मौजूद पौष्टिक तत्व और एनर्जी की मात्रा शरीर को ऊर्जा प्रदान करने में मदद कर सकती है। नाशपाती के जूस को एक एनर्जी ड्रिंक की तरह सेवन किया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to Top
Adblock
detector